Google Adsense Approval Kaise Kare | Full Process 2020 | Complete Guide

Google Adsense Approval Kaise Kare | Full Process 2020 | Complete Guide

Google Adsense Approval Kaise Kare, Google Adsense ही क्यों Select करना चाहिए आपको अपनी वेबसाइट के लिए, Google Adsense किस तरह से काम करता है, किसी भी वेबसाइट पर Google Adsense Apply करने से पहले किस Facts का आपको ख्याल रखना है, Google Adsense का वेरिफिकेशन प्रॉसेस क्या होता है और किस तरह से किया जाता है, आपकी वेबसाइट के लिए Ideal Ads Placement कौनसी होगी, आपको अपनी वेबसाइट में Ads की Placement किस तरह से करनी चाहिए।

इस आर्टिकल को आपको पूरा जरूर पढ़ना है क्योकि इसमें में Discus करने वाला हूँ की Common Warning जो आपको Adsense में Received होती है वो कैसे Solve की जा सकती है, उसके Possible Solution क्या हो सकते है।

Google Adsense के Interesting Facts कोनसे है जो के वजह बनती है Google Adsense को ही Select करने के लिए आपको अपनी वेबसाइट के लिए

Google Adsense के Interesting Facts

Google Adsense ने अपनी Service देना शुरू की 2003 में Approximately 10 Billion डॉलर Google Adsense से Revenue Generate होता है, जो की Passone होता है Publishers को, जो की अपनी Website पर Publishers Services Use कर रहे है Google Adsense के लिए जिसमे YouTube से Releted और ऒर भी Websites आती है जो की इस Income के अंदर की Calculated है।

Approximately 10 Million Websites पर Google Adsense की Services Use की जा रही है, और गूगल का Revenue 23% Google Adsense से ही Generate होता है।

Interesting Part Google Adsense को Use करने की है के इसमें CPC, CTR और स्मार्ट प्राइसिंग फैक्टर जैसी चीज़े Google Adsense आपकी वेबसाइट के लिए Use कर रहा होता है, और इसी में ही Auction Advertising भी आती है जिसे हम Bidding Advertising भी कहते है।

Google Adsense का कोई भी हेल्प लाइन नहीं है और कोई भी Support फ़ोन नंबर नहीं है, Google Search Engine का Crawlers Different होता है Google Adsense के Crawlers से।

Google Adsense के अकाउंट में Income अपडेट होती है After 15 से 30 मिनट के अंदर और इसमें Interesting Detailed Report भी आपको हासिल होती है।

Different Types की Advertising Methods भी आपको ऑफर कर रहा होता है जिसमे Native Advertising, Match Content, In Feed Ads, और Link Units Ads शामिल है।

इसकी App Store पर भी App Available थी जो की Disconnect हो गई दिसम्बर 2019 को।

Google Adsense काम कैसे करता है?

तो अब बात करते है की Google Adsense का Process कैसे Start होता है?

How to Paste Google Adsense Code into HTML

इसका Process Start होता है Simply एक Script Code से।

आप Simply अपनी वेबसाइट पर वो Code Apply कर देते है और By Default सारी Services, सारे काम Google Adsense बैकग्राउंड में खुद Perform कर रहा होता है।

Backend में Use हो रहा होता है Google Adwords, Google Adwords ही वो होता है जहाँ से Advertiser अपनी Ads गूगल को दे रहे होते है, और वही Ads बादमे Google Adsense पर Show हो रही होती है।

Google Adsense का Code आपकी वेबसाइट को और आपके Content को Crowl करता है और डिसाइड करता है के आपका Content किस बारे में है और फिर उससे Releted Ads Show करवाता है।

Google Adsense AdsGoogle Adsense Ads

जब आप अपनी वेबसाइट पर Ad लगते है और जब आपकी वेबसाइट मोबाइल स्क्रीन पर ओपन होती है और जो एरिया आपको नज़र आ रहा होता है या डेस्कटॉप पर आपकी वेबसाइट का एरिया सबसे पहले जो आपके Visitor को नज़र आता है। वह पर Ad लगाने की सबसे ज्यादा Value है और वही से सबसे ज्यादा Generate होता है।

Example के लिए आप समझ ले की अपने मूवीज पर कोई आर्टिकल लिख रखा है और जब ये आर्टिकल इंडिया में Open होगा तो इंडिया के Cinemas की मूवीज प्रमोशन जितनी चल रही है। वो आपकी वेबसाइट पर Automatically Ads Show कर रहा होगा। और इससे Releted आपकी वेबसाइट USA में या China में Open होती है तो वह USA या China के Cinemas की मूवीज प्रमोशन की Ads Show होंगी। मतलब की आप समझ गए होने की Location to Location Adsense Ads Show करता है।

Normally Adsense Crowler हफ्ते में एक बार Crowl करता है लेकिन इसकी कोई लिमिट नहीं है, वो कभी भी Crowl कर सकता है आपकी वेबसाइट को।

अगर आपका Content Change हो रहा है तो उसके Accordingly वो अपनी Advertisement भी Change कर रहा होगा।

How to Apply Adsense for Website?

अब बात करते है जिसके लिए आप यहाँ तक हमारा आर्टिकल पढ़ने आये है की कैसे Google Adsense को Apply  किया जाता है, Google Adsense को Apply करने के लिए आपको किस चीज़ की जरुरत पड़ती है।

  1. जीमेल अकाउंट होना चाहिये।
  2. वेबसाइट होनी चाहिये और फ्री वेबसाइट नहीं होनी चाहिये, बेहतर है की आप Custom डोमिन ले यानी की। .com, .net, .org जैसे डोमेन को ले।
  3. फ़ोन नंबर होना चाइये।
  4. आपका complete Address होना चाहिये।
  5. उन्ही भाषा में आपकी वेबसाइट बनी होनी चाहिये जिसे Google Adsense Officially Accept करता है।

Google Adsense में वेबसाइट को Apply  करने के लिए Articles का और Content की क्या रेकारमेंट होती है।

Basically इसकी कोई Specific Requirement नहीं है पर फिर भी Idea में Suggest करना चाहू की जो वेबसाइट मेने सबसे ज्यादा Approve करवाई है उसमे Normally 20 से 30 Articles पर वेबसाइट Approve हो जाती है लेकिन ऐसा जरुरी नहीं ही क्योकि मेने 5 से 8 Articles पर भी Google Adsense से भी Approval लिया है Depend करता है की आपका टॉपिक कितने आर्टिकल्स में Cover हो रहा है और वो आर्टिकल्स कितने Lengthy है और उसमे टॉपिक को कितना Deeply Explain किया हुआ है।

जब आप अपने मुताबिक Decide कर लेंगे की कितने आर्टिकल्स आपकी वेबसाइट के लिए कवर कर रहे है उन सारे टॉपिक को Completely कवर कर रहे है तो उसके बाद दूसरी चीज़ जो आपको ख्याल रखना है उस वेबसाइट पर थोड़ी बहुत ट्रैफिक जरूर होनी चाहिए।

अगर Google Organic की बात करते हो तो 10 से 20 विजिटर पर भी मेने अप्रूवल लिया है।

अगर आप फेसबुक की बात कर रहे है या सोशल ट्रैफिक आपकी वेबसाइट पर है तो आपको 5 से 10 दिन तक आपको एक अच्छा ट्रैफिक अपनी वेबसाइट पर भेजना होगा।

और जब आप Code Apply करेंगे तब भी अपनी वेबसाइट पर एक अच्छा ट्रैफिक भेजना पड़ेगा जिससे आपके अप्रूवल के chances बढ़ जाते है।

इसके साथ सबसे ज्यादा प्रॉब्लम जो आज कल लोग देख रहे है Limited Ads का है, यानी की जब आप अपनी वेबसाइट पर बहुत ज्यादा ट्रैफिक Send कर रहे होते है, सोशल ट्रैफिक सेंड कर रहे होते है तो आपकी क्वालिटी ऑफ़ ट्रैफिक से Advertiser को मलतब Google Advertiser और Adword Advertiser को Benifit नहीं मिल रहा होता, तो Google Adsense आपकी वेबसाइट पर एक लिमिट Place कर देता है, आपकी क्वांटिटी ऑफ़ ट्रैफिक को देख कर।

उसका Solution ये होता है के आप By Pass करे अपनी ट्रैफिक को उस वेबसाइट पर किसी और वेबसाइट के Throw.

Adsense Ads Limit Solution.

Example के लिए आप एक फ्री वेबसाइट बना लेते है Wix.com, WordPress.com, Blogger.com, या कोई भी फ्री वेबसाइट से Releted वेबसाइट बनाकर उससे अपनी वेबसाइट की ट्रैफिक को रेडिरेक्ट करते है तो आपका ये प्रॉब्लम 1 से 2 दिन के अंदर Solve हो जाता है।

Google Adsense Verification

Google Adsense Pin Verification

जब आपका Google Adsense Approved हो जाता है तो उसके बाद सबसे पहला Step जो आपको Full Fill करना होता है वो होता है वेरिफिकेशन प्रॉसेस।

Google Adsense आपके Address पर एक Pin Send करता है। इस पिन को आपको अपने Google Adsense के अंदर Enter करना होता है।

Normally इंडिया की बात करे तो Google Adsense के पिन 10 से 20 दिन के अंदर आपके एड्रेस में आती है। पर Normally ये Delay भी हो जाता है। और इंडिया के कुछ एरिया में ये पिन Received भी नहीं होती। तो Google Adsense आपको ये ऑप्शन देता है के आप After 22 से 23 दिन बाद Google Adsense के पिन की एक और Request कर सकते है। और ये रिक्वेस्ट आप 3 बार कर सकते है।

How to Verify Adsense Without Pin

Example अगर 3 बार में भी आपके पास ये पिन नहीं आता है तो उसका Solution ये होता है की जब आप 3rd पिन के लिए रिक्वेस्ट करते है तो आपके पास Re Request Issue की जगह Contact US का बटन आ जाता है, जिसमे आप Google Adsense का फॉर्म फिल करते है और उसके अंदर अपना वही एड्रेस एंटर करते है जो अपने Adsense के अकाउंट बनाते वक़्त Use किया था।

और उस एड्रेस को जब आप एंटर करते है और साथ ही अपने I’d कार्ड की Details और I’d कार्ड की पिक्चर भी उसे सेंड करते है।

तो इससे ये होता है की 24 से 48 घंटे के अंदर आपके Adsense से वेरिफिकेशन का टैब हैट जाता है, यानी की आपकी वेरिफिकेशन Officially Complate हो जाती है।

Google Adsense Payment Method

Google Adsense Payment

Google Adsense आपको 3 तरीके से पेमेंट सेंड कर रहा होता है, जब आप 100$ के Threshold को Complete कर लेते है।

  • Western Union
  • Bank Account Transfer
  • चेक Received

ये तीन मेथड से आप Google Adsense का पेमेंट ले सकते है।

चेक आपके एड्रेस में Received होने में 20 से 25 दिन लग सकते है।

नॉर्मली Western Union और Bank Account Transfer सबसे ज्यादा Use करते है। और ये सबसे Popular मेथड्स है।

Google Adsense Ads Placement

Google Adsense Ad Placement

आपकी वेबसाइट पर Ideal Ads प्लेसमेंट कोनसी होती है।

इसको हम 3 तरह से देखेंगे।

Google Adsense Ad Placement

Link Ad Unit ये बहुत पॉपुलर और बहुत अच्छा Perform कर रहे होते है, लिंक यूनिट अपने मेनू के बिलकुल बाद एक लिंक यूनिट Responsive लिंक यूनिट प्लेस करेंगे और उसके बाद After Title एक और लिंक यूनिट प्लेस करेंगे और 2 से ज्यादा Ad Unit ना लगाया करे अपनी वेबसाइट पर क्योकि आपका फिल Rate डिस्टर्ब होता है।

Google Adsense Ad Placement

अगर आप इसको कुछ दिन Try करेंगे फिर इससे रिजल्ट नहीं मिलता तो आप Responsive Ads की तरफ जायेंगे यानी, की Same Location पर अपने टॉप पर लिंक यूनिट रखना है और After Title Responsive Ad Unit लगाना है। या आप उसको Replace कर सकते है In-Articles Ad Unit से भी।

Adsense Officially 3 Ad Unit लगाने को Accept करता है लेकिन अब उसने ये लिमिट ख़तम कर दी है। अब आप अनलिमिटेड Ad Unit लगा सकते है।

Google Adsense

लेकिन में ये Recommend करता हु की 3 से ज्यादा Ad Unit ना लगाया करे इससे आपका RPM भी ड्राप होने के चान्सेस बढ़ते है और CTR भी ड्राप होता है।

तो इसलिए Adsense में Ideal Ads प्लेसमेंट डिफ़ॉल्ट होती है। उन्ही को आप अच्छी तरह से समझेंगे तो मैक्सिमम क्लिक भी वही आएगा और क्लिक Rate भी आपको बेहतर उसी लोकेशन से मिलेंगे।

Google Adsense Location Variation

एक और Technique में Adsense अप्रूवल में ये भी देखी है की Suppose आपके पास मल्टीपल लोकेशन के Adsense एकाउंट्स है मतलब मल्टीपल Country के Adsense अकाउंट है। UK का भी है, USA का भी है, India का भी अकाउंट है।

जब Same वेबसाइट मेने इंडिया में Apply की तो वो रिजेक्ट हो गई और वही वेबसाइट जब मेने कुछ दिन बाद USA के Adsense में अप्लाई की तो वो Approve हो गई। इसका ये मतलब नहीं इंडिया Country में कोई दिक्कत है। ये डिपेंड कर करता है किसी स्टेज पर या आपने कुछ अपडेट की हो जो के Google Adsense के लिए Ideally फिट होती हो तो उसने आपको अप्रूवल Assign कर दी।

दूसरी चीज़ का ध्यान रखना है की जब आप Apply करते है अपना Adsense तो आपने हमेशा Body के अंदर After One Paragraph, After Two Paragraph, After Three Paragraph लिंक यूनिट ही प्लेस करने है। इसके अलावा आपकी कोई Ad प्लेसमेंट नहीं होनी चाहिए। और Ads जहा आप Show करवा रहे है उसके ऊपर कोई इमेज नहीं होनी चाहिए, उसके ऊपर कोई Heading Mention नहीं होनी चाहिए किसी भी टाइप की। इससे आपका अप्रूवल प्रॉसेस भी Boost होता है।

Google Adsense ReApply

में एक्सपेरिमेंट इन चीज़ो में करता रहता हु तो मेने Same वेबसाइट को Same स्ट्रक्चर (Theme) में विथाउट Any Changes After 10 से 20 बार अप्रूवल भेजने के बाद भी अप्रूवल Accept की है Google Adsense से।

अगर आपको अप्रूवल नहीं मिल रहा Google Adsense का तो आप हफ्ते में Changes करते रहे और हफ्ते भर में वेबसाइट में अपडेट करते रहे। किसी दिन आपको Google Adsense का अप्रूवल जरूर मिल जायेगा।

Google Adsense अप्रूवल के लिए About US, Contact US, Privacy Policy, Terms and Condition, Disclaimer etc… ये सब पेजेज जरूर बनाये।

Google Adsense Warnings

अब बात करते है Popular Warnings कोनसी है या आपका अकाउंट में जो Policy Center में Warning Show हो रही होती है वो क्या होती और उसको कैसे Solve किया जाता है।

Normally आपको ये Warning Received होती है, जिसमे वो कहता है की आपका Ad कोड डिफोल्ट Show हो रहा है अगर आप Resonsive Ad Unit या Image Ad Unit डिफोल्ट Show करवा रहे होते है तो ये आपकी Warning की Base बनता है। उस Ad Unit को आप After Paragraph जब Adjust करते है तो ये Warning Solve हो जाती है। फिर आप दुबारा Request करते है तो 24 से 48 घंटे के अंदर आपकी वेबसाइट Review को Pass कर लेती है तो Warning Remove हो जाती है।

Double Click की Email आती है अकाउंट Disapprove होने की वजह सिर्फ ये होती है की जब आपकी ट्रैफिक से Advertiser को Benifit नहीं होता वो कुछ चीज़ Sell कर रहा होता है कुछ सर्विस Sell रहा है जब उसकी कन्वर्जेन पीछे Received नहीं होती तो गूगल का Ecco सिस्टम इस चीज़ कोJudge करता है। और उसको Benifit नहीं मिलता है तो वो आपके अकाउंट पर एक Warning लगा देता है।

क्योकि Definitely ये सारा Benifit जब Advertiser के लिए हो रहा है और उसको बेनिफिट नहीं मिल रहा होता तो उसका Ecco सिस्टम Advertiser को Support करता है और आपकी वेबसाइट को Suspend कर देता है।

तो आपका मॉडल Adsense के मुताबिक नहीं होना चाहिए, Made For Adsense वेबसाइट नहीं होना चाहिए, आपके कंटेंट को फोकस होना चाहिए। तो आपने हमेशा Ad की कोड Adjust करने से पहले ये जरूर ख्याल रखना है।

Google Adsense

जिन वेबसाइट के ऊपर ज्यादा ट्रैफिक होती है उन्ही को ही Normally ये Objection Face करना पड़ता है।

एक और Warning देखते है Accessvis Advertising की वो जब आप अपने सारे Ads डिफ़ॉल्ट लगा देते है, नॉर्मली आपकी Half of The Page से पहले ये सारी Ads प्लेस कर देते है तो इसलिए आपको ये वार्निंग फेस करनी पड़ती है।

उसके लिए आप अपने Ads ऊपर से उठा कर नीचे कर देते है तो ये वार्निंग आपकी Pass हो जाती है, या आपने Ad के क्वांटिटी को काम कर देते है।

Scraped Content की Warning नज़र आती है जो के गूगल सर्च इंजन में भी Show हो होती है और Google Adsense में भी नॉर्मली आ जाती है, इसकी वजह यहाँ होती आपका कंटेंट बहुत ज्यादा कम होता है जैसे 200 Words का 300 Words का होता है जिसकी वजह से आप आपकी Advertisement ज्यादा लगा देते है और फिर जब गूगल का Crowler जब उसको Crowl करता है तो देखता है की उसके ऊपर Words Count बहुत कम है और Ads बहुत ज्यादा Show हो रही है तो आपको ये वॉर्निंग फेस करनी पड़ती है।

या आप ऐसे Pages से अपना Ads बंद कर दे या तो उसके ऊपर Extra Content Add करे।

Auto Generate Content जैसी वार्निंग भी देखने को मिलती है इसकी वजह भी यही होती है के आपकी वेबसाइट पर Auto Generate Content या Spin Content या बहुत ही Poor Quantity का Content जब अपनी वेबसाइट पर डालते है तो आपको ये वार्निंग फेस करनी पड़ती है।

तो अपने कंटेंट की Words की क्वालिटी का ख्याल करे, अगर आप Seriously अपनी वेबसाइट से Income करना चाहते है तो।

Images और Heading के करीब करीब आपने Ads नहीं लगनी है, ये पहले से में बोल चूका हु, ये बहुत Important Factor है Directly Show नहीं होता पर इसका Effect आपकी Adsense की Volition में Show हो रहा होता है, किसी वजह से या कोई भी और वार्निंग लगा रहा होता है।

ये Highlight नहीं कर रहा होता वो चीज़, पिछले कुछ सालो में Highlight कर रहा था। लेकिन अब वो Highlight नहीं कर रहा होता है इस फैक्टर को।

Google Adsense Website Approval

कुछ दिनों पहले मेने एक वेबसाइट पर Google Adsense का अप्रूवल लिया था वो वेबसाइट PBN की वेबसाइट थी जिसमे 250 आर्टिकल्स डलें हुए थे। और उसके ऊपर Zero Traffic था। सिर्फ उसकी Age 6 महीने के ऊपर है।

इसका ये मतलब नहीं है के आप कंटेंट डालते रहेंगे उसके ऊपर तो आपको अप्रूवल मिल जाएगी।

Normally मेने अपनी Case Study भी आपके साथ Share कर रखी है जिस पर मेने 5 से 8 आर्टिकल्स में Adsense अप्रूवल लिया है और उस वेबसाइट से अच्छी Income भी हो रही है।

तो आप समझ गए होंगे की एक फार्मूला नहीं है, अपनी Common Sense से Judge करना होता है की कोनसी चीज़ बेहतर Perform करेगी।

इसमें Theme का रोले भी होता है की आपने Theme भी ऐसे डिज़ाइन करनी है जो के Schema के सारे फैक्टर को Include भी कर रही हो और अच्छी हेडिंग दे और अच्छी पिक्चर्स दे और पिक्चर्स कॉपीराइटेड Use ना करे और अच्छे Layout के साथ Proper Formatting करे और अपने Main Page को Maximum Length दे और Maximum Word Count आपके Page पर होना चाहिए। उससे आपके अप्रूवल के Chances काफी ज्यादा बढ़ जाते है।

Google Adsense FAQ’s

मुझे बहुत लोगो ने ये भी पूछा है की APK की वेबसाइट पर Google Adsense का अप्रूवल ले सकते है?

में बोलता हु जी हां बिलकुल ले सकते है उसके लिए भी ये सारे Factor को Consider करने होंगे के आपके Main Page और आपके आर्टिकल्स प्रॉपर फोर्मेटेड हो और Best Value दे रहे हो, Google को किसी भी तरह से ये नहीं लगना चाहिए के आप Spamming Technique Use कर रहे है, अप्रूवल के लिए।

अगर आप मेरे ब्लॉग में आ गए है तो आप Seriously Earning करना चाहते है, क्योकि इसकी जगह आप Sunny Leone के वीडियो भी देख सकते थे पर आप मेरे ब्लॉग में मेरे Articles को पढ़ रहे है तो आप Seriously अपने काम को Continue करना चाहते है।

ये था आज का Informational Article अगर आप चाहते है की में आपके लिए ऐसे ही Informative Articles आपको बताता रहु तो आप मुझे कमेंट में भी अपनी राये बता सकते है।

अगर मेने आर्टिकल में कोई चीज़ Miss कर दी है तो उसको भी आप कमेंट में जरूर बताये ताकि में और भी अच्छे से Information दे सकूँ।

अपने दोस्तों को शेयर जरूर करे जो की Same इसी फिल्ड में Struggle कर रहे है और इसी तरह Question को फेस कर रहे है।

और आप मुझे बता सकते हो की अगला आर्टिकल में किस बारे में लिखू।

आप तक नोटिफिकेशन मिलती रहे इसलिए आप मेरे ब्लॉग को सब्सक्राइब भी कर सकते है।

Thank You

Read More Articles –

Top 20 Ways to Make Money Online

Technical

BloggingCreators.com is an Indian Blogging Community Where Everyone Shares Their Bits of Knowledge. Join Our Community for Learning and Teaching Both and make Indian Youth More Digital.

This Post Has One Comment

Leave a Reply